सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

प्राकृतिक सुंदरता पाने के लिए करे इन घरेलू नुस्खे का प्रयोग - Homemade beauty tips for glowing skin Hindi

Beauty tips


Homemade beauty tips for glowing skin Hindi ।। daily face care tips in hindi ।। skin care tips in hindi ।।  skin care tips in hindi at home



प्राकृतिक सुंदरता पाने के लिए सबसे अच्छा और सस्ता उपाय है घरेलू नुस्खे। यह एक तो पूरी तरह प्राकृतिक होने के कारण इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है। और इसके प्रयोग करने से आपको प्राकृतिक सुंदरता प्राप्त होती है। आज आपको ऐसे ही घरेलू नुस्खे बताने जा रहा हूं। जिसके प्रयोग से आप प्राकृतिक सुंदरता प्राप्त कर सकते है।


(1) चिकनी एव तेलीय त्वचा के लिए गुणकारी है बेसन-हल्दी का उबटन - fairness skin tips hindi for oily skin 

60 ग्राम बेसन और आधा चम्मच पिसी हुई हल्दी में थोड़ा कच्चा दूध या पानी मिलाकर गाढ़ा-गाढा़ घोल बना ले और 8-10 बूंद सरसो ( तिल या जैतून) का तेल मिलाकर इतना फेटे की गाढ़ा लेप बन जाय। इस उबटन को चेहरे, गर्दन, बाहे, हाथ-पैर, कोहनियों- घुटने आदि अंगो पर लेप लगाए। लेप लगाने के पांच-दस मिनट बाद जब यह लेप सूखने लगे तो हाथ से रगड़ कर साफ कर ले। अब थोङी देर बाद गुनगुने पानी से अंगों को धो ले या स्नान कर ले और तौलिए से सूखा ले। इससे त्वचा साफ, रेशमी मुलायम और चमकदार हो जायेगा। और इसके साथ दाग, झाइयां, कालिमा दूर हो जाती है और चेहरे के अनावश्यक बाल झड़ जाते है। 


(2) दूध और बादाम का प्रयोग - skin care tips in hindi

चार बादाम गिरी को प्रातः पानी में भिगो दे। सायं को बादाम का छिलका उतार कर उन्हें दो चम्मस दूध के साथ इतना बारीक़ पीसे की वह पानी में घुल जाय। बादाम-दुग्ध घोल को रात को सोते समय चेहरे पर लगाकर सो जाय और सुबह चेहरे को ठंडे पानी से धो ले। लगभग पंद्रह दिनों तक लगातार प्रयोग करने से चेहरा साफ, कोमल, आभायुक्त बन जाती है।

(3) दूध का प्रयोग - beauty care tips in hindi

आधा कटोरी, कच्चा या गुनगुना दूध को एक स्वच्छ रुई में भिगोकर चेहरे, गर्दन हाथो आदि शरीर के अन्य अंगों पर पांच- दस मिनट तक लगाये। बिस मिनट बाद ठंडे या गुनगुने पानी से धो ले। दूध के दैनिक प्रयोग से मुंहासे, चेहरे की झाईयां, दाग-धब्बे, झुर्रिया और खुरदरापन आदि दूर हो जाता है।

(4) मुल्तानी मिटटी का प्रयोग - skin care tips in hindi at home

मुल्तानी मिट्टी का लेप-एक कटोरी में लगभग 100 ग्राम मुल्तानी मिट्टी पानी में भिगो दे दो घण्टे में वह फूलकर लुगदी सा बन जाय तो हाथ से मसलकर गाढ़ा घोल तैयार कर ले अवस्यक्तानुसार घोल बनाकर इसे चेहरे पर लगाये। सर्दी के दिनों में मुल्तानी मिट्टी को लगाकर धूप में आधा घंटे बैठने के बाद गुनगुने पानी से स्नान करे और गर्मी के दिनों में मिटटी के लेप के बाद छाया में बैठे और आधा घंटे बाद ठंडे पानी से स्नान करे। इसके प्रयोग से चेहरे का मैल साफ होगा और त्वचा की रंगत निखरेगी।

(5) हल्दी का प्रयोग - beauty care tips in hindi

हल्दी एंटीसेप्टिक होने के साथ ही एंटी-वैक्टिरियल भी है, ये त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद है, साथ ही ये स्किन को भी निखारने का काम करती है। हल्दी में कुछ मात्रा में दूध को मिलाकर लगाने से बहुत लाभ होता है

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भगवान गौतम बुद्ध को आत्मज्ञान की प्राप्ति कैसे हुई - वैशाख पूर्णिमा और बुद्ध को ज्ञान की प्राप्ति

सिद्धार्थ जब कपिलवस्तु की सैर पर निकले तो उन्होंने चार दृश्यों को देखा उन्होंने सबसे पहले एक बूढ़े व्यक्ति को देखा तो उन्होंने अपने सारथी से पूछा की यह कौन है। तब सारथी ने कहाँ की यह एक बूढ़ा व्यक्ति है तब सिद्धार्थ ने पूछा की यह बूढ़ा व्यक्ति क्या होता है तो उनके सारथी ने कहा कि एक दिन सभी को बुढ़ा होना है। तब सिद्धार्थ ने पूछा की मैं भी बूढा हो जाऊंगा? तो सारथी ने कहा  हा एक दिन आप भी इनके जैसा हो जायेंगे। फिर सिद्धार्थ और आगे बढे तो उन्होंने एक बीमार व्यक्ति को देखा तो सिद्धार्थ ने फिर सारथी से पूछा की यह कौन है। तब वह सारथी बोला यह एक बीमार व्यक्ति है, यह किसी को हो सकता है।  इसके बाद वह और आगे बढे तो सिद्धार्थ ने एक शव को देखा फिर वह सारथी से पूछते है कि यह क्या है, तब सारथी बोला यह सब एक मृत व्यक्ति को लेकर जा रहे है इस संसार में जो जन्मा है उसको एक दिन मृत्यु को प्राप्त होना ही है। फिर वह अंत में एक सन्यासी को देखा फिर वह सारथी से पूछते है तब वह सारथी बोला की यह एक सन्यासी है यह अपना घर, परिवार और सारी सम्पति का त्याग कर साधु बनकर भगवान की पूजा करता है। यह सब देखने के बाद वह बह

जैसा आप सोचते है, आप वैसे ही बन जाते है भगवान बुद्ध की प्रेरणा दायक कहानी - Best Gautam Buddha stories in hindi for life

  Story of Gautam Buddha in hindi ।। Gautam Buddha story in hindi ।। Gautam Buddha life story in hindi ।। Siddharth Gautam Buddha story in hindi एक बार गौतम  बुद्ध और उनके शिष्य एक वन से गुजर रहे होते है। बहुत दूर चलने के बाद भगवान बुद्ध के शिष्य बुद्ध से कहते है, बुद्ध क्या हम कुछ देर विश्राम कर सकते है। बुद्ध कहते है, अवश्य अब हमे विश्राम करना चाहिए, ओ देखो एक बड़ा वृक्ष है। हम उसके नीचे विश्राम करेंगे। बुद्ध और उनके सभी शिष्य उस वृक्ष के नीचे बैठ जाते है। उनमें से एक शिष्य ने बुद्ध कहता है, बुद्ध आपने हमसे एक बात कही थी कि! हम जैसा सोचते है हम वैसा ही बन जाते है। कृपा करके इस कथन को विस्तार से समझाइए, बुद्ध कहते है अवश्य, मै तुम्हे एक छोटी सी कहानी सुनाता हूं। एक नगर में एक बहुत धनी सेठ रहता था। उसके पास धन की कोई कमी नहीं थी। परन्तु फिर भी हर समय धन इकट्ठा करने के बारे में सोचता रहता था। एक बार सेठ के घर उसका एक रिश्तेदार आता है। सेठ उसकी खूब खातेदारी करता है। बातों-बातों में सेठ का रिश्तेदार सेठ से कहता है, अरे सेठ जी हमारे नगर में एक नामी गिरामी सेठ रहता था। वह आप से ज्यादा धनवान