सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

दो प्रोत्साहन देने वाली लघुकथाएँ - Two encourageable short stories in hindi



हौसला बढ़ाने वाली दो कहानियां ,उम्मीद कभी न खोना - never lose hope।। Best short stories in hindi ।। Two encourageable short stories।। Running motivation story in Hindi




1. अनमोल एक दस साल का लड़का था। वह खेलो में बहुत अच्छा था। उसने अपने स्कूल में बहुत सी दौड़े जीती थी। एक बार उसका चयन एक धावक के रूप में अपने स्कूल का प्रतिनिधित्व करने के लिए अंतर विद्यालयी खेल प्रतयोगिता में हुआ। जबकि वह एक बहुत अच्छा धावक था फिर भी वह घबराने लगा क्योंकि प्रतियोगिता काफी कठिन होगी।
तभी, उसने एक छोटी सी चिटी को चीनी के एक दाने को ले जाते देखा। वह दीवार पर चढ़ने का प्रयास कर रही थी परन्तु वह बार-बार असफल हो रही थी। उसने प्रयत्न जारी रखा और अंत में वह अपनी मंजिल पर पहुंचने में सफल हुई। चिटी को देखकर, अनमोल ने सोचा कि यदि एक चिटी जैसे छोटे से प्राणी ने उम्मीद नहीं खोई और अपनी मंजिल तक पहुंच गई, तो वह क्यों हिम्मत हार जाए? उसे उम्मीद और हिम्मत नहीं हारनी चाहिए। मुझे अपने लक्ष्य को पाने के लिए सबसे बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए। अगले दिन से ही उसने अधिक से अधिक अभ्यास शुरू कर दिया। अन्तिम दौड़ में वह आत्मविश्वास पूर्वक दौड़ा और दस प्रतियोगिताओं में से दूसरे स्थान पर आया। अगले दिन सुबह की प्रार्थना सभा में, प्रधानाचार्य ने अनमोल की प्रशंसा की और सभी बच्चो ने उसके लिए तालिया बजाई। उसके माता-पिता और अध्यापक ने उस पर गर्व महसूस किया।



2.असम्भव कुछ भी नही  Napoleon Bonaparte inspirational story in Hindi


असम्भव कुछ भी नहीं है- यह वाक्य फ्रांस के महान सेनापति नेपोलियन बोनापार्ट का है जो गरीब घर में जन्मा था। परन्तु प्रबल पुरुषार्थ और दृढ़ संकल्प के कारण एक सैनिक कि नौकरी से फ्रांस का शहंशाह बन गया।
ऐसी ही संकल्प शक्ति के दूसरे उदाहरण है संत विनोबा भावे। बचपन में विनोबा जी गली में सब बच्चो के साथ खेल रहे थे। वहां बाते चली की अपने पूर्वजों में कौन-कौन संत हो गए। प्रतेक बालक ने अपने किसी न किसी पूर्वज का नाम संत के रूप में बताया। अंत में विनोबा जी की बारी आयी। विनोबा जी ने तब तक कुछ नहीं कहा परंतु मन ही मन दृढ़ संकल्प करके जाहिर किया कि अगर मेरे पूर्वजों में कोई अंत नही बना तो मै स्वयं संत बनकर दिखाऊंगा। अपने इस संकल्प के सिद्धि के लिए उन्होंने प्रखर पुरुषार्थ शुरू किया। और लग गए इसकी सिद्धि और अंत में एक महान संत के रूप में प्रसिद्ध हुए। यह है दृढ़ संकल्प और पुरुषार्थ का परिणाम है, इसलिए दुर्बल, नकारात्मक विचार छोड़कर उच्च संकल्प करके प्रबल पुरुषार्थ में लग जाओ, सामर्थ्य का खजाना तुम्हारे पास ही है। सफलता अवश्य तुम्हारे कदम चूमेगी।



टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जीवन बदल देने वाली प्रेरणा दायक विचार

जितने भी महान लोग हुए है वह कोई अलग कार्य नही करते है, बस वह अपने कार्य को अलग तरीके से करते है, इसलिए उनको सफलता मिलती है। आज ऐसे ही महान लोगो के द्वारा बताए गये (motivational quotes) मोटिवेशनल कोट्स आप सभी के साथ शेयर कर रहे है।कोई भी लक्ष्य को हासिल करने के लिए आपको सिर्फ दो चीजें चाहिए पहला तो दृढ़ संकल्प और दूसरा कभी न टूटने वाला हौसला। लेकिन संघर्ष के रास्ते में जब आपका हौसला कमजोर पड़ने लगे तो उस समय आपको ऐसी जरूरत होती है जो की आपको एक बार फिर से उठकर खड़े होने की प्रेरणा दे। इसलिए आज हम आपको ऐसी ही सफल और महान लोगे के द्वारा दिए गए सफलता के कुछ ऐसे मंत्र को बताने वाले है । जिन्हें आप अपने मुश्किल समय में अपनी ताकत बना कर खुद को आगे बढने के लिए प्रेरित कर सकते है। प्रेरणा देने वाले विचार ।। prernadayak vichar ।। prernadayak status ।। prernadayak suvichar ।। hindi status for life  “ कामयाब होने के लोए निरंतर सीखते रहे। सिखने से ही आप अपनी क्षमताओं को पहचान सकते है।” “ ख़ुशी के लिए काम करोगे तो ख़ुशी नही मिलेगी लेकिन खुश होकर काम करोगे तो ख़ुशी जरूर मिलेगी।” “ संकल्प मनुष्य क

लघु साहसिक कहानियाँ हिंदी में - Short adventure stories in hindi

  Hindi Short Adventure Stories of Class 7 ।।  Sahas kahani in hindi नमस्कार मित्रो स्वागत है हमारे ब्लॉग पर आज हम आपके लिए लघु साहसिक कहानी लेकर आए हैं। जिसे पढ़ने से आपमें एक सकारातमक ऊर्जा का संचार होगा। मित्रो हम सभी के जीवन में कुछ न कुछ परेशानियाँ आती हैं। लेकिन उस समस्या के समय जो लोग धैर्य से काम करते हैं। वहीं लोग जीवन में आगे बढ़ते हैं। श्रुति की समझदारी प्रेरणा दायक कहानी  best short story in hindi श्रुति एक पुलिस अधिकारी की बेटी थी। वह पढ़ने में काफी तेज थी तथा कक्षा में हमेशा प्रथम आती थी। उसके पिता सरकारी आवास न मिलने के कारण शहर के छोर पर किराए के मकान में रहते थे। वहीं पास में झुग्गी बस्ती थी जहां बहुत से गरीब परिवार रहते थे। वे सब मेहनत मजदूरी करके अपना जीवन यापन करते थे। इसी झुग्गी की एक महिला श्रुति के घर में काम करने आती थी। उसकी दस साल की एक लड़की थी जिसका नाम अंजू था। अंजू अक्सर अपनी मां के साथ श्रुति के घर पर आती थी। अंजू श्रुति के घर उसके साथ खेलती थी। इसलिए अंजू, श्रुति की सहेली बन गई थी। एक दिन श्रुति ने अंजू के स्कूल न जाने का कारण पूछा तो अंजू ने बताया की गर

मजेदार हास्य कविता - funny poem in hindi

जीवन में खुश रहना बहुत जरूरी है अगर आप अपने जीवन खुश रहते है तो आप किसी भी कार्य को एक नई ऊर्जा और उमंग के साथ करेंगे। वही अगर आप किसी भी कार्य को अधूरे मन से करते हैं तो इसका परिणाम भी अधूरा आता है। इसलिए जीवन में खुश रहना बहुत जरूरी है।  आप खुश कैसे रह सकते है। इसके लिए आप मजेदार जोक्स अथवा फनी कविता पढ़ सकते हैं। तो दोस्तो आज हम आपको खुश करने के लिए ऐसे ही मजेदार कविता लेकर आए हैं।   Best funny poem in hindi ।। Comedy poem in hindi  ।। Funny poem अपनो ने मुझको मारा, गैरो में कहा दम था, मेरी हड्डी भी टूटी वही, जहां अस्पताल बंद था। मुझे एम्बुलेंस में बिठाया, जिसका पेट्रोल खत्म था, मैं रिक्से पे लाया गया, क्योंकि उसका किराया कम था। मुझे डॉक्टरों ने उठाया,  नर्सों में कहा दम था, मुझे बिस्तर पर लिटाया गया, जिसके नीचे बम था। मुझे बम से उड़ाया, गोली में कहा दम था, मुझे अपनो ने मारा, गैरो में कहा दम था। Funny kavita।। Comedy poem in hindi।। Short funny poem in hindi  आज के नेता खाते मेवा, कल के नेता के नेता करते सेवा। आज के नेता भरते झोली, कल के नेता झेले गोली। आज के नेता करे वाद-विवाद, कल