सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

सबसे अच्छी प्रेरणा दायक कहानी - short motivational story in hindi



inspirational story in hindi ।। Dukh Kyo hai ।। Grief prevention story in hindi ।। Dukh nivaran kahaniya Hindi me 


क्या आपके जीवन में भी बहुत सारी समस्या है ? आपके बहुत प्रयास के बाद भी वह समस्या नहीं जाती। या तो एक समस्या समाप्त होती है तभी दूसरी समस्या आ जाती है ऐसे में आपको कुछ समझ नहीं आता कि क्या करे कि इन समस्या से छुटकारा पा सके। ऐसे समस्याओं से लड़ने के लिए आपको एक सकारात्मक ऊर्जा के साथ - साथ दृढ़ इच्छाशक्ति की आवश्यकता होती है। ऐसे ही हम आज आपके लिए कुछ प्रेरणा दायक कहानी लाए है। जिसे पढ़ने से आपके अन्दर एक सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा ऐसे में आप उन सभी समस्याओं से आसानी से लड़ सकते है।

1. कर्ण ने श्री कृष्णा पूछा की मेरे साथ ही ऐसा क्यों होता है - Sri Krishna motivational story

एक बार महाभारत के युद्ध के समय कर्ण ने श्री कृष्ण से पूछा, की मेरे साथ ही ऐसा क्यों होता है? जन्म के बाद मेरी मां ने मुछे छोड़ दिया। द्रोणाचार्य ने शिक्षा देने से मना कर दिया। द्रोपदी के स्वयंवर में मुझे अपमानित किया गया। श्री कृष्ण ने पहले तो मंद- मंद मुस्कुराए और फिर बोले, इस संसार में ऐसा कोई नहीं है, जिसने दुख नहीं उठाया है। मेरा जन्म कारागार में हुआ। जन्म के तुरंत बाद मुझे माता-पिता से अलग होना पड़ा पैदा होने से पहले मृत्यु मेरा इंतजार कर रही थी। यही नहीं जब मै घुटनों के बल भी चल नहीं पा रहा था, तब मुझ पर प्राणघातक हमले हुए। पिता समान मामा ने मुझ बालक पर प्रहार कर मृत्यु के मुख में पहुंचाने का प्रयास किया। जरासंध के प्रकोप के कारण मुझे अपने परिवार को समुद्र के किनारे द्वारका में बसाना पड़ा। किसी का भी जीवन चुनौतियों से रहित नहीं है। महत्व इस बात का है कि हम उन सबका सामना किस प्रकार ज्ञान के साथ करते है।



2. सोच बदलने वाली कहानी - short motivational story in hindi for success

एक बार कुछ युवकों के समूह में सबसे पहले पहाड़ पर  चढ़ने की शर्त लगी। सभी युवको ने पहाङ पर चड़ना आरम्भ किया , लेकिन उनमें से तो कुछ युवक पहाड़ पर थोङी ऊपर चढ़ते ही फिसलने लगे वह डर की वजह से आशा छोङकर वापस नीचे उतर आये और उनमें से कुछ ने तो साहस करके पहाड़ केे मध्य भाग तक तो पहुच गये लेकिन पहाड़  काफी ऊंचा था इसलिए उनमे से जो लोग बीच तक चढ़े थे डर कि वजह से वापस नीचे उतर आतेे है।

लेकिन उनमें से एक युवक ने आशा नही छोङा वह बिना डरे पहाड़ पर चढ़ता जा रहा था। उस युवक को उनके सभी साथी ने पहाड़ पर और ऊपर चढ़ने से रोकने लगे और कहने लगे की पहाड़ बहुत ऊँचा है, और ऊपर मत चढ़ नही तो गिरेगा तो बचेगा नही। लेकिन वह युवक चढ़ता गया और अंत में पहाड़ के चोटी पर पहुच गया। क्या आप जानते है कि वह युवक पहाड़ के ऊपरी चोटी पर क्यों चढ़ पाया। क्योंकि वह युवक कानो से बहरा था। जब वह पहाड़ पर अकेला चढ़ा जा रहा था। तब उसके सभी दोस्त उसको पहाड़ पर और ऊपर चढ़ने से मना कर रहे थे। तब उसको लगा की वह सब उसका उत्साह बढ़ा रहे है। और कह रहे है, कि तू पहाड़ की चोटी पर चढ़ सकता है, तू ही यह कार्य कर सकता है। इसलिए ही वह पहाड़ की चोटी पर वह अकेेेले चढ़ सका।

अगर आपको जीवन में सफलता पानी है तो कानो से बहरे बनो कौन क्या कहता है, यह मत ध्यान दो ,बस अपने लक्ष्य पर ध्यान दे।



3. दुःख क्यों है - best inspiration story 

एक संत थे। उनके शिष्य आश्रम में रहकर अध्यन करते थे। एक दिन एक महिला उनके पास दुखी अवस्था में आयी और बोली, बाबा मैं लाख प्रयासों के बाद भी अपना मकान नहीं बनवा पा रही हूं। मेरे रहने का कोई निश्चित स्थान नहीं है। मैं बहुत अशान्त और दुखी हूं। कृपया मेरी मदद कीजिए। संत ने कहा, हर किसी के पास पुश्तैनी जायदाद नहीं मिलती। अपना मकान बनवाने के लिए तुम्हे ईमानदारीपूर्वक धनोपार्जन करना होगा, तभी मकान बन पायेगा और तुम्हें मानसिक शान्ति भी मिलेगी। वह महिला वहा से चली गयी। इसके बाद एक शिष्य ने संत से बोला, गुरुजी सुख तो समझ में आता है, लेकिन दुख क्यों है? यह समझ में नहीं आता। शिष्य की बात सुनकर संत ने कहा, मुझे नदी के उस पार जाना है। तुम मेरे साथ चलो। इसका जवाब मै तुम्हें नाव में दूंगा। दोनों नाव में बैठ गये संत ने एक चप्पू से नाव चलानी शुरू की। एक ही चप्पू से चलाने के कारण नाव गोल-गोल घूमने लगी, तो शिष्य बोला, अगर आप एक ही चप्पू से नाव चलाते रहे, तो हम यही भटकते रहेंगे, कभी किनारे पर नहीं पहुंच पाएंगे। संत बोले यही तो तुम्हारे सवाल का जवाब भी है। अगर जीवन में सुख ही सुख होगा, तो जीवन नैया यो ही गोल गोल घुमती रहेगी और कभी भी किनारे पर नहीं पहुंच पाएगी जिस तरह नाव को साधने के लिए दो चप्पू चाहिए, कार्य करने के लिए दो हाथ चाहिए उसी तरह जीवन में सुख के साथ दुख भी होना चाहिए। संत की बात शिष्य को समझ में आ गयी

दोस्तों यह प्रेरणा दायक कहानी आपको पसंद आया हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा लोगो को शेयर जरूर करें धन्यवाद। 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जीवन बदल देने वाली प्रेरणा दायक विचार

जितने भी महान लोग हुए है वह कोई अलग कार्य नही करते है, बस वह अपने कार्य को अलग तरीके से करते है, इसलिए उनको सफलता मिलती है। आज ऐसे ही महान लोगो के द्वारा बताए गये (motivational quotes) मोटिवेशनल कोट्स आप सभी के साथ शेयर कर रहे है।कोई भी लक्ष्य को हासिल करने के लिए आपको सिर्फ दो चीजें चाहिए पहला तो दृढ़ संकल्प और दूसरा कभी न टूटने वाला हौसला। लेकिन संघर्ष के रास्ते में जब आपका हौसला कमजोर पड़ने लगे तो उस समय आपको ऐसी जरूरत होती है जो की आपको एक बार फिर से उठकर खड़े होने की प्रेरणा दे। इसलिए आज हम आपको ऐसी ही सफल और महान लोगे के द्वारा दिए गए सफलता के कुछ ऐसे मंत्र को बताने वाले है । जिन्हें आप अपने मुश्किल समय में अपनी ताकत बना कर खुद को आगे बढने के लिए प्रेरित कर सकते है। प्रेरणा देने वाले विचार ।। prernadayak vichar ।। prernadayak status ।। prernadayak suvichar ।। hindi status for life  “ कामयाब होने के लोए निरंतर सीखते रहे। सिखने से ही आप अपनी क्षमताओं को पहचान सकते है।” “ ख़ुशी के लिए काम करोगे तो ख़ुशी नही मिलेगी लेकिन खुश होकर काम करोगे तो ख़ुशी जरूर मिलेगी।” “ संकल्प मनुष्य क

लघु साहसिक कहानियाँ हिंदी में - Short adventure stories in hindi

  Hindi Short Adventure Stories of Class 7 ।।  Sahas kahani in hindi नमस्कार मित्रो स्वागत है हमारे ब्लॉग पर आज हम आपके लिए लघु साहसिक कहानी लेकर आए हैं। जिसे पढ़ने से आपमें एक सकारातमक ऊर्जा का संचार होगा। मित्रो हम सभी के जीवन में कुछ न कुछ परेशानियाँ आती हैं। लेकिन उस समस्या के समय जो लोग धैर्य से काम करते हैं। वहीं लोग जीवन में आगे बढ़ते हैं। श्रुति की समझदारी प्रेरणा दायक कहानी  best short story in hindi श्रुति एक पुलिस अधिकारी की बेटी थी। वह पढ़ने में काफी तेज थी तथा कक्षा में हमेशा प्रथम आती थी। उसके पिता सरकारी आवास न मिलने के कारण शहर के छोर पर किराए के मकान में रहते थे। वहीं पास में झुग्गी बस्ती थी जहां बहुत से गरीब परिवार रहते थे। वे सब मेहनत मजदूरी करके अपना जीवन यापन करते थे। इसी झुग्गी की एक महिला श्रुति के घर में काम करने आती थी। उसकी दस साल की एक लड़की थी जिसका नाम अंजू था। अंजू अक्सर अपनी मां के साथ श्रुति के घर पर आती थी। अंजू श्रुति के घर उसके साथ खेलती थी। इसलिए अंजू, श्रुति की सहेली बन गई थी। एक दिन श्रुति ने अंजू के स्कूल न जाने का कारण पूछा तो अंजू ने बताया की गर

मजेदार हास्य कविता - funny poem in hindi

जीवन में खुश रहना बहुत जरूरी है अगर आप अपने जीवन खुश रहते है तो आप किसी भी कार्य को एक नई ऊर्जा और उमंग के साथ करेंगे। वही अगर आप किसी भी कार्य को अधूरे मन से करते हैं तो इसका परिणाम भी अधूरा आता है। इसलिए जीवन में खुश रहना बहुत जरूरी है।  आप खुश कैसे रह सकते है। इसके लिए आप मजेदार जोक्स अथवा फनी कविता पढ़ सकते हैं। तो दोस्तो आज हम आपको खुश करने के लिए ऐसे ही मजेदार कविता लेकर आए हैं।   Best funny poem in hindi ।। Comedy poem in hindi  ।। Funny poem अपनो ने मुझको मारा, गैरो में कहा दम था, मेरी हड्डी भी टूटी वही, जहां अस्पताल बंद था। मुझे एम्बुलेंस में बिठाया, जिसका पेट्रोल खत्म था, मैं रिक्से पे लाया गया, क्योंकि उसका किराया कम था। मुझे डॉक्टरों ने उठाया,  नर्सों में कहा दम था, मुझे बिस्तर पर लिटाया गया, जिसके नीचे बम था। मुझे बम से उड़ाया, गोली में कहा दम था, मुझे अपनो ने मारा, गैरो में कहा दम था। Funny kavita।। Comedy poem in hindi।। Short funny poem in hindi  आज के नेता खाते मेवा, कल के नेता के नेता करते सेवा। आज के नेता भरते झोली, कल के नेता झेले गोली। आज के नेता करे वाद-विवाद, कल